राजभाषा नीति

राजभाषा नियम, 1976 के नियम 10 के उप-नियम 4 के अनुसरण में 1976 में केंद्रीय विद्युत प्राधिकरण को सरकार के राजपत्र में अधिसूचित किया गया था। नियम 8 के उप-नियम 4 के तहत हिंदी में प्रवीणता प्राप्‍त सभी अधिकारियों और कर्मचारियों को अपना संपूर्ण सरकारी कामकाज हिंदी में काम करने के लिए निर्दिष्ट किया गया था।
राजभाषा कार्यान्वयन समिति की त्रैमासिक बैठकें
राजभाषा विभाग द्वारा जारी किए गए आदेशों के अनुसार केंद्रीय विद्युत प्राधिकरण में अध्‍यक्ष, केविप्रा की अध्‍यक्षता में राजाभाषा कार्यान्‍वयन समिति का गठन किया गया है जिसमें सभी प्रभागों और अनुभागों के प्रमुख इसके सदस्‍य हैं। प्रत्‍येक तिमाही में इसकी बैठक आयोजित की जाती है। इन बैठकों में केंद्रीय विद्युत प्राधिकरण में राजभाषा नीति के कार्यान्‍वयन के संबंध में हुई प्रगति तथा राजभाषा विभाग द्वारा निर्धारित किए गए लक्ष्‍यों की तुलना में केविप्रा की उपलब्‍धि की समीक्षा की जाती है और समिति की पिछली बैठक में लिए गए निर्णयों के संबंध में केविप्रा के विभिन्‍न प्रभागों द्वारा की गई अनुवर्ती कार्रवाई पर विचार-विमर्श किया जाता है।
राजभाषा नियम, 1976 के नियम 10(4) के अन्‍तर्गत प्रभागों को निर्दिष्‍ट करना
राजभाषा नियम, 1976 के नियम 10(4) के अन्‍तर्गत केविप्रा के कुल 53 प्रभागों/अनुभागों में से 33 निर्दिष्‍ट प्रभागों/अनुभागों में सभी कार्य जैसे राजभाषा अधिनियम की धारा 3 (3) के अनुसार जारी किए जाने वाले सभी दस्‍तावेज, नोटिंग, प्रारूपण, कार्यालय आदेश, पत्र आदि हिंदी/द्विभाषी रूप में जारी किए जा रहे हैं। हिंदी में प्राप्त सभी पत्रों का उत्तर हिंदी में दिया जा रहा है।
हिंदी पखवाड़े का आयोजन
केंद्रीय विद्युत प्राधिकरण में दिनांक 11/09/2019 से 25/09/2019 तक हिंदी पखवाड़े का आयोजन किया गया। 11.9.2019 को हिंदी पखवाड़े का उद्घाटन केंद्रीय विद्युत प्राधिकरण के अध्यक्ष द्वारा किया गया। सीईए के सभी सदस्यों, सचिव और मुख्य अभियंताओं सहित काफी अधिकारियों/कर्मचारियों ने इसमें भाग लिया। इस अवसर पर, "साइबर सुरक्षा" पर कार्यशाला सहित एक सांस्कृतिक कार्यक्रम का भी आयोजित किया गया। हिंदी पखवाड़े के दौरान 4 प्रतियोगिताओं नामत: हिंदी निबंध लेखन, हिंदी टिप्‍पण और प्रारूपण, हिंदी अनुच्छेद लेखन (केवल एमटीएस के लिए) और राजभाषा नियम/अधिनियम और हिंदी भाषा/साहित्य की सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता आयोजित की गई । इन प्रतियोगिताओं में 94 अधिकारियों और कर्मचारियों ने उत्साह से भाग लिया।
पुरस्कार वितरण समारोह 25/09/2019 को आयोजित किया गया। इस समारोह में 12 विजेताओं को नकद पुरस्कार और प्रशंसा पत्र दिए गए। 2018-19 के दौरान मूल रूप से हिंदी में नोटिंग और आलेखन करने वाले 10 कर्मियों को प्रोत्साहन योजना के तहत पुरस्कृत किया गया। हिंदी में डिक्टेशन देने के लिए अधिकारियों के लिए प्रोत्साहन योजना के तहत एक अधिकारी को नकद पुरस्कार और प्रशस्ति पत्र दिया गया। अध्यक्षा ने उन अधिकारियों/कर्मचारियों को बधाई दी, जिन्होंने पुरस्कार प्राप्त किया और अन्य कर्मचारियों से अपना अधिक से अधिक सरकारी कामकाज हिंदी में करने की अपील की। इसके अलावा, डीपीएंडआर प्रभाग और पीडीएम प्रभाग को '' चल वैजयंती '' शील्ड से सम्मानित किया गया ।
हिंदी कार्यशाला आयोजित करना
यह कार्यालय राजभाषा नीति के कार्यान्वयन के लिए नियमित रूप से हिंदी कार्यशालाओं का आयोजन कर रहा है। केविप्रा के अधिकारियों और कर्मचारियों द्वारा हिंदी में काम करने की झिझक को दूर करने और कार्यालय में हिंदी का उपयोग बढ़ाने के लिए आने वाली कठिनाइयों को कम करने के लिए इस प्रकार की हिंदी कार्यशालाओं का आयोजन किया जाता है।
हिंदी पुस्तकों की खरीद
इस कार्यालय में एक पुस्तकालय है। प्रत्येक वित्तीय वर्ष में पुस्तकालय में नियमित रूप से हिंदी पुस्तकें खरीदी जाती हैं। पुस्तकालय में हिंदी समाचार पत्र और हिंदी पत्रिकाएँ भी नियमित रूप से खरीदी जाती हैं ।
पीसी पर द्विभाषी में काम करने की सुविधा
वर्तमान में इस कार्यालय के सभी कंप्यूटरों में द्विभाषी रूप से काम करने की सुविधा है।